ठीक होकर घर लौटे बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद, आत्महत्या के प्रयास के लिए इन्हें ठहराया जिम्मेदार

नई दिल्ली: बाबा का ढाबा (Baba Ka Dhaba) के मालिक कांता प्रसाद ठीक होकर अब घर जा चुके हैं। हालत में सुधार होने के बाद उन्हें सफदरजंग अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।हालांकि घर पहुंचने के बाद उन्होंने नया विवाद खड़ा कर दिया है। कांता प्रसाद ने पुलिस को आत्महत्या करने की कोशिश के पीछे के कारणों की जानकारी दी है। पुलिस को दिए बयान के बाद अब इस मामले में नया नाटकीय मोड़ आ गया है। अस्पताल से लौटने के बाद कांता प्रसाद पुलिस के समक्ष अपना बयान दर्ज कराते हुए कई यूट्यबर्स पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने गौरव वासन से माफी मांगने के लिए यूट्यूबर्स पर फोन करने का अरोप लगाया है।

कांता प्रसाद ने कहा है कि कई यूट्यूबर्स उन्हें फोन करके गोरव वासन से माफी मांगने का दबाव बना रहे थे, जिसकी वजह से वह डिप्रेशन में आ गए। फिलहाल पुलिस ने अभी इस मामले में एफआईआर नहीं दर्ज किया है। लेकिन कांता प्रसाद को फोन करने वाले कथित यूट्यूबर्स की जांच शुरू कर दी है। एक अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक डीसीपी (दक्षिण जिला) अतुल कुमार ठाकुर ने बताया है कि 81 वर्षीय कांता प्रसाद की हालत स्थिर है और वह अब घर लौट आए हैं। बता दें कि पिछले सप्ताह उन्हें गंभीर हालत में सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा था कि उन्होंने आत्महत्या करने का प्रयास किया था। शुरुआत में उनहें वेंटिलेटर पर रखा गया था और बाद में आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया था।

पुलिस सूत्रों की मानें तो कांता प्रसाद ने बयान में कहा है कि कई यूट्यूबर्स ने उन्हें फोन कर गौरव वासन से माफी मांगने के लिए कहा था, जिसके बाद से वह डिप्रेशन में थे। बता दें कि इससे पहले उनके बेटे करण ने पुलिस को बताया था कि उसके पिता ने शराब पीकर नींद की गोलियां खाई थीं, जिससे उनकी हालत गबगड़ गई थी। वहीं उनकी पत्नी ने कहा था कि वह पिछले कुछ दिनों से अपने व्यवसाय को लेकर काफी परेशान थे।

Leave a Comment