चीन पर बिपिन रावत का बड़ा बयान, कहा- कमजोर है ड्रैगन की ट्रेनिंग, बेहतर तैयारी की जरूरत

पूर्वी लद्दाख (Ladakh) में बीते साल मई में चीन और भारत की सेना के बीच हुई हिंसक झड़प (India-China Faceoff) के बाद दोनों देशों के रिश्तों में अभी भी खटास पूरी तरह से खत्म नहीं हुई है। चीन आए दिन भारत के खिलाफ कोई न कोई नई साजिशें रचता रहता है, ऐसे में स्थिति अभी भी तनावपूर्व बनी हुई है। इस बीच भारत के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (CDS Bipin Rawat) ने चीन को लेकर बड़ा बयान दिया है।

उन्होंने एक प्रतिष्ठित न्यूज चैनल के साथ इंटरव्यू के दौरान कहा कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर गलवान घाटी और अन्य जगह हुई भिड़ंत के बाद चीनी सेना को पता चला है कि उनकी ट्रेनिंग कितनी कमजोर है। उनको यह अहसास हुआ है कि उन्हें बेहतर तैयारी और ट्रेनिंग की जरूरत है। बिपिन रावत ने बताया कि चीन के सैनिक हिमालय की पहाड़ियों में लड़ाई के आदि नहीं हैं, न ही वो लंबे समय तक मुकाबला कर सकते हैं।

इंटरव्यू के दौरान चीनी सैनिकों की ताजा गतिविधियों को लेकर चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने कहा कि भारत से लगे बॉर्डर पर चीन की ओर से उसके सैनिकों की तैनाती में बदलाव किया गया है। जिस तरह से LAC में गलवान घाटी और अन्य इलाकों में ड्रैगन की सेना की भारतीय सेना से भिड़ंत हुई, उन्हें यह अहसास हो गया है कि उन्हें बेहतर तैयारी की जरूरत है।

इसके साथ ही भारतीय सेना की तैयारियों को लेकर उन्होंने कहा कि भारतीय जवानों ने बेहतरीन तैयारी की है और हालात को भांपा है। हमारी सेना पहाड़ी इलाकों में चीन की सेना की तुलना में काफी बेहतर है। उन्होंने इस दौरान यह भी दोहराया कि भारत की ओर से लगातार चीनी गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है। भारतीय सेना लगातार सक्रिय है।

Leave a Comment