दिल्ली के दो बाजार बंद करने का आदेश वापस, कोरोना के नियमों के उल्लंघन पर हुआ था सील

0

New Delhi/Atulya Loktantra: COVID-19 से जुड़े निर्देशों के उल्लंघन पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के नांगलोई में शाम को लगने वाले दो बाजारों (Evening Markets) को बंद करने के आदेश को वापस ले लिया गया है. नोटिस जारी होने के कुछ ही घंटों बाद आदेश को वापस ले लिया गया है. इससे पहले, रविवार को पश्चिमी दिल्ली जिला प्रशासन ने नांगलोई के पंजाबी बस्ती मार्केट और जनता मार्केट को बंद करने का आदेश दिया था. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ रहे हैं. लोगों से सार्वजनिक स्थानों पर जाते समय मास्क (Mask) लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) का पालन करने की अपील की जा रही है. इसके बावजूद, कोरोना प्रोटोकॉल से जुड़े निर्देशों की अनदेखी की खबरें आ रही हैं.

पश्चिमी दिल्ली जिला प्रशासन के मुताबिक, कल शाम को स्थिति काफी खराब हो गई थी. रेहड़ी पटरी वालों के चलते ज़्यादा भीड़ हो गई थी, जिसके चलते नियमों की धज्जियां उड़ रही थी, लेकिन अब रेहड़ी पटरी वालों को वहां से हटा दिया गया है. दुकानदारों को हिदायत दी गई है कि वह अपने यहां मास्क पहनने, देह से दूरी के नियम का पालन कराएंगे’

बता दें कि पश्चिमी दिल्ली में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (DDMA) ने रविवार को आदेश जारी करके पंजाबी बस्ती मार्केट और जनता मार्केट को 30 नवंबर तक बंद करने का निर्देश दिया था. वेस्ट डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन के मुताबिक, पंजाबी बस्ती मार्केट और जनता मार्केट नांगलोई में दुकानदार/खरीदार द्वारा दिल्ली सरकार की तरफ से जारी निर्देशों, जैसे मास्क पहनना, शारीरिक दूरी का पालन करना आदि का उल्लंघन किया जा रहा था.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार किसी भी बाजार को बंद नहीं करना चाहती है और मार्केट एसोसिएशन के प्रतिनिधियों को मास्क नहीं पहनकर आने वाले लोगों को मास्क देने को कहा है.

दिल्ली में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. लगातार तीसरे दिन यहां कोरोना वायरस संक्रमण से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. रविवार शाम जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में यहां 121 मरीजों की मौत कोरोना की वजह से हो गई. वहीं पिछले 24 घंटों में यहां 6746 नए मामले सामने आए. जिसके बाद संक्रमितों की संख्या 5,29,863 हो गई. वहीं मृतकों की संख्या बढ़कर 8391 हो गई.

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here