प्लेटफॉर्म पर साबुन-शैंपू से लेकर दवा तक बेचेगा रेलवे,दिव्यांगों और वरिष्ठ नागरिकों को मिलेगी बैट्री रिक्शा की सुविधा

0
File Photo

New Delhi/Atulya Loktantra: नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के साथ हजरत निजामुद्दीन, पुरानी दिल्ली, आनंद विहार स्टेशन पर यात्रियों को अब जरुरत का सामान जैसे फूड कोर्ट, ऑटोमैटिक वेंडिंग मशीन, क्रीम, साबुन, शैंपू, दवा समेत अन्य पर्सनल केयर उत्पाद वेंडिंग मौजूद होगी। इसके साथ ही यात्रियों को मसाज पार्लर समेत दूसरी कई सुविधाएं भी मिलेंगी। स्टेशन पर दिव्यांगों व वरिष्ठ नागरिकों के लिए बैट्री चालित रिक्शा चलाने की भी योजना है। दिल्ली रेल मंडल ने इसके लिए टेंडर जारी किया है। रेलवे को उम्मीद है कि इससे सालाना 51.64 लाख रुपये राजस्व की प्राप्ति होगी।

फ्रूट-जूस स्टॉल पर अन्य खाद्य पदार्थ बेचने की अनुमति
रेलवे ने खानपान नीति में बदलाव करते हुए अब प्लेटफॉर्म पर स्थित फ्रूट-जूस स्टॉल पर अन्य खाद्य सामग्री बेचने की अनुमति दे दी है। इसका फायदा यह होगा कि यात्रियों को मुख्य प्लेटफार्म पर जाने की जरूरत नहीं होगी। सभी प्लेटफार्म पर खाद्य सामग्री व वेंडिंग मशीन से पर्सनल केयर प्रोडक्ट आसानी से मिल जाएंगे।

दवाओं की दुकानें भी होंगी
यात्रियों की सुविधा के लिए सस्ती दवाओं की दुकानें भी खुलेंगी। बतौर पॉयलट प्रोजेक्ट जेनेरिक दवाई की दुकान आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर खोला गया है। अब इसी के तर्ज पर निजामुद्दीन, सराय काले खां, पुरानी दिल्ली, सराय रोहिल्ला स्टेशन पर भी सस्ती दवाइयों की दुकानें खोली जाएंगी।

स्टेशनों पर बैट्री रिक्शा की सुविधा
दिव्यांगों और वरिष्ठ नागरिकों की सुविधा के लिए नई दिल्ली, पुरानी दिल्ली, आनंद विहार, निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर बैट्री रिक्शा की संख्या बढ़ाई जाएगी।

वंदे भारत में लगेंगे एलईडी टीवी
यात्रियों के मनोरंजन के साथ ही रेलवे ने कमाई का रास्ता भी ढूंढ लिया है। देश की सबसे तेज रफ्तार से चलने वाली वंदे भारत ट्रेन में 18.5 इंच के एलईडी टीवी लगाए जाएंगे। यात्रियों को नि:शुल्क मनोरंजन सुविधा के साथ प्रचार के माध्यम से रेलवे कमाई करेगा।

यात्रियों को होंगी सहूलियत, रेलवे को राजस्व
स्टेशन पर रोजाना इस्तेमाल में आने वाले साबुन, शैंपू के अलावा ट्रेन में मनोरंजन की सुविधा भी यात्रियों को मिलेगी। इससे मुसाफिरों के साथ रेलवे को भी फायदा होगा। इससे रेलवे की कमाई होगी। वेंडिंग मशीन से 8.64 लाख रुपये का और वंदे भारत एक्सप्रेस में विज्ञापन अधिकारों के लिए दिए गए ठेके से 5 साल की अवधि में 2.15 करोड़ रुपये का राजस्व अर्जित होगा। रेलवे सालाना 51 लाख राजस्व की प्राप्ति होगी।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here