खुशखबरीः कोरोना के खिलाफ दोहरी मार वाली एक और वैक्सीन ट्रायल में सफल

0

New Delhi/Atulya Loktantra: कोरोनावायरस के इलाज के लिए एक और वैक्सीन सफलता के मुकाम छू रही है. अब एक और कंपनी ने दावा किया है कि उसकी वैक्सीन कोरोना वायरस से तो बचा ही रही है. साथ ही शरीर में इम्युनिटी में भी इजाफा कर रही है. यानी इसकी वैक्सीन कोरोना वायरस को तो खत्म करेगी ही साथ ही भविष्य में कोरोना का हमला न हो इसके लिए शरीर में उच्च स्तर के एंटीबॉडीज भी बनाएगी.

इस दवा कंपनी का नाम है नोवावैक्स (NOVAVAX). नोवावैक्स कंपनी की कोरोना वैक्सीन NVX-CoV2373 की सफलता की इस घोषणा के बाद उसके शेयरों में 10 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है.

नोवावैक्स (Novavax) ने कहा है कि हमारी कोरोना वैक्सीन का आखिरी स्टेज का तीसरा ट्रायल सितंबर के अंत तक खत्म हो जाएगा. इसके बाद हम अगले साल यानी 2021 में 100 करोड़ से 200 करोड़ वैक्सीन का उत्पादन करने में सक्षम होंगे.
नोवावैक्स (Novavax) के प्रमुख ग्रेगरी ग्लेन ने कहा कि मुझे भरोसा है कि आखिरी स्टेज के डेटा से हमे सरकार की तरफ से दवा बनाने की अनुमति मिल जाएगी. ये अनुमति हमें इस साल दिसंबर के शुरुआत तक मिलने की उम्मीद है.

मैरीलैंड स्थित नोवावैक्स (Novavax) की वैक्सीन NVX-CoV2373 के बारे में कहा जा रहा है कि यह शरीर में कोरोना के खिलाफ उच्च स्तर के एंटीबॉडीज बना रही है. साथ ही कोरोना वायरस को तत्काल खत्म करने में मदद कर रही है. इसलिए ये दवा भी कोरोना पर दोहरी मार कर रही है.

नोवावैक्स (Novavax) की वैक्सीन NVX-CoV2373 की दो डोज लेने के बाद कोविड-19 मरीज पूरी तरह से ठीक हो रहे हैं. यह वैक्सीन अमेरिकी सरकार द्वारा चलाई जा रही ऑपरेशन वार्प स्पीड के पहले कुछ प्रोग्राम्स में से है, जिसे व्हाइट हाउस से फंडिंग मिली है.

नोवावैक्स (Novavax) की वैक्सीन NVX-CoV2373 में कोरोना वायरस के ऊपरी सतह को सिंथेसाइज कर ठीक किया गया है. प्रोटीन से बनी यही ऊपरी सतह इंसानी शरीर में घुस कर और वायरस पैदा करती है. इसके लिए वह हमारे शरीर की कोशिकाओं का सहारा लेती है.

नोवावैक्स (Novavax) ने कहा है कि वह NVX-CoV2373 वैक्सीन का उत्पादन दिसंबर से शुरू कर सकता है, अगर उसरे सरकार से अनुमति मिल जाती है तो. कंपनी का टारगेट है कि जनवरी 2021 में 10 करोड़ डोज बनाए जाएं.

नोवावैक्स (Novavax) की वैक्सीन NVX-CoV2373 का ट्रायल मई के अंत में शुरू हुआ था. इसने अब तक 18 से 59 साल के 106 कोविड-19 मरीजों को ठीक किया है. फेज-1 की स्टडी से तो फिलहाल यही रिजल्ट सामने आए हैं. जिससे कंपनी के शेयर बढ़ गए हैं.

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here