शिक्षा बोर्ड ने 1000 प्राइवेट स्कूलों पर लगाया 5 हजार का जुर्माना

0

Bhiwani/Atulya Loktantra : प्राइवेट स्कूलों पर परीक्षा में ड्यूटी नहीं देने के एवज में हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड द्वारा लगाया गया एक हजार स्कूलों पर 5- 5 हजार रुपए का जुर्माना माफ कर दिया गया। प्राइवेट स्कूल वेल्फेयर एसोसिएशन ने बोर्ड चेयरमैन के साथ इस मामले को लेकर बैठक की। इसके साथ ही प्राइवेट स्कूल संचालकों ने बोर्ड चेयरमैन ने अगली बार किसी प्रकार की कोताही न बरतने का आश्वासन दिया। इसके बाद बोर्ड ने जुर्माना माफ करने का आश्वासन दिया है।

मंगलवार को थी प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने चेयरमैन से मीटिंग
प्राइवेट स्कूलों फेडरेशन ऑफ स्कूल एसोसिएशन के प्रदेश महासचिव, भाजपा शिक्षक प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष और प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन भिवानी के प्रधान रामअवतार शर्मा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार शाम को हरियाणा शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन जगबीर सिंह से मुलाकात की। प्रतिनिधि मंडल की चेयरमैन के साथ लगभग डेढ़ घंटे चली मीटिंग के बाद रामअवतार शर्मा ने बताया कि प्राइवेट स्कूलों की समस्याओं के बारे में बोर्ड चेयरमैन को अवगत करवाया है।

AdERP School Management Software

शर्मा ने बोर्ड चेयरमैन को बताया कि जिस समय बोर्ड को प्राइवेट स्कूलों की स्टाफ स्टेटमेंट भेजी गई थी तथा बाद में जिस समय डयूटी लगाई गई थी। इस समय के अंतराल में कई अध्यापक स्कूल से चले गए थे, ऐसे में वे कैसे डयूटी पर जाते। वहीं उन्होंने बताया कि कई स्कूल ऐसे भी थे जिसमें सभी अध्यापकों की ड्यूटी लगने के कारण स्कूल को कई दिनों तक बंद करना पड़ता।

इस दुविधा वश सभी अध्यापक ड्यूटी पर नहीं जा सके। उन्होंने बोर्ड चेयरमैन को विश्वास दिलवाया कि अगली बार वे ऐसा नहीं करेंगे। रामअवतार शर्मा ने बताया कि स्कूल एसोसिएशन की बोर्ड चेयरमैन से बैठक में उन्होंने आश्वासन दिया है कि उनकी जुर्माना राशि माफ कर दी जाएगी।

इस संबंध में बोर्ड चेयरमैन डॉ. जगबीर सिंह ने कहा कि स्कूलों के इस आश्वासन के बाद की आगे से ड्यूटी में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरती जाएगी उन सभी स्कूलों का जुर्माना माफ कर दिया गया। बोर्ड परीक्षा में प्रदेश के अनेक स्कूल टीचरों ने ड्यूटी में कोताही बरती थी। इस पर बोर्ड प्रशासन ने प्रदेश भर के 933 स्कूलों पर पांच पांच हजार रुपये जुर्माना लगाया है।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here