विधान परिषद में पॉर्न देख रहे थे कांग्रेसी नेता ! BJP ने मांगा इस्‍तीफा

0

Bengaluru/Atulya Loktantra : कर्नाटक की राजनीति एक बार फिर गर्मा गई है. खबर सियासी है लेकिन कथित तौर पर अपराधिक कृत्य से जुड़ी बताई जा रही है. इसकी वजह है एक वायरल वीडियो क्लिप जो कांग्रेस नेता और एमएलसी प्रकाश राठौड़ का है. इसके बाद बीजेपी ने कांग्रेस नेता प्रकाश राठौड़ पर आरोप लगाया है कि विधान परिषद में वह अपने मोबाइल फोन में अश्‍लील वीडियो देख रहे थे. बीजेपी ने ये भी कहा है कि यह कदम सदन की गरिमा के खिलाफ है इसलिए उन्हें इस्तीफा देना चाहिए.

इस तरह सामने आया मामला
Karnataka विधान परिषद की कार्यवाही के दौरान कांग्रेस नेता राठौड़ अपने मोबाइल में कोई वीडियो देखते दिखाई देते हैं जिसे स्थानीय कन्नड भाषा के न्यूज़ चैनलों ने ब्लर करके टेलीकास्ट किया था. इसके बाद से सत्ताधारी बीजेपी राठौड़ पर लगातार हमलावर है. भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस नेता के निलंबन की मांग की है. बीजेपी नेता एस प्रकाश ने कहा कि कांग्रेस एमएलसी प्रकाश राठौड़ के इस मामले को स्‍पीकर के सामने भी उठाया जाएगा. .

कांग्रेस नेता की सफाई
बीजेपी (BJP) के आरोपों को खारिज करते हुए राठौड़ ने संवाददाताओं से कहा कि वह प्रश्नकाल के दौरान सरकार से प्रश्न पूछने के लिए अपने मोबाइल में सवाल से संबंधित सामग्री देख रहे थे. अपनी सफाई में प्रकाश राठौड़ ने ये भी कहा कि उनके फोन की मेमोरी फुल थी. इसलिए वो अपने फोन पर आई कुछ फाइलें डिलीट कर रहे थे. इस सामान्य घटनाक्रम को इश्यू बना लिया गया. वहीं कांग्रेस नेता ने लोगों से सच्‍चाई दिखाने की अपील की है.

नेताओं की सुचिता पर उठे सवाल
इसी तरह का एक घटनाक्रम कर्नाटक में साल 2012 में सामने आया था. तब सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के तीन मंत्री विधानसभा की कार्यवाही के दौरान मोबाइल फोन पर अश्लील क्लिप देखते कैमरे में कैद हुए थे. बीजेपी को शर्मिंदगी उठानी पड़ी थी, हालांकि घटनाक्रम के बाद तीनों मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया था. तब तत्कालीन सहकारिता मंत्री लक्ष्मण सावदी, महिला-बाल विकास मंत्री सीसी पाटिल और बंदरगाह तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री कृष्णा पालेमर से जुड़ा मामला सुर्खियों में था.