एक और किसान ने दी जान, हिसार में डिप्टी स्पीकर की कार पर पत्थर फेंका

0
File Photo

Chandigarh/Atulya Loktantra: दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन कर रहे किसानों ने शनिवार को जहां सर छोटू राम की पुण्यतिथि मनाई, वहीं कुंडली बॉर्डर पर एक और किसान फतेहगढ़ के अमरिंदर सिंह (40) ने मंच के पास जहर खाकर जान दे दी। अब तक हरियाणा में 33 आंदाेलनरत किसानों की जान जा चुकी है। किसान के दोस्त हरजीत ने बताया कि शाम 5:30 बजे अमरिंदर ने मंच के सामने कहा कि अब किसानों का दर्द नहीं देख सकता।

इतना कहते ही उसने जेब से सल्फास की शीशी निकाली और गोली खा ली। तत्काल उसे बहालगढ़ के फिम्स अस्पताल ले जाया गया। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। वह 44 दिनों से धरने में शामिल था। उधर, हिसार के गांव आर्यनगर में विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणवीर गंगवा की गाड़ी पर पत्थर चले तो यमुनानगर की छछरौली में शिक्षा मंत्री कंवरपाल के दौरे का किसान नेताओं ने जमकर विरोध किया। यहां पुलिस से टकराव के बाद किसान बीच हाईवे पर बैठ गए। बाद में उन्हें शांत कराया गया।

शिक्षा मंत्री सीएम की करनाल के कैमला गांव में रविवार को होने वाली महापंचायत के मद्देनजर भाजपा नेताओं से बैठक करने आए थे। करनाल इसकाे लेकर प्रशासन और किसानों की दोपहर को बैठक भी हुई। लेकिन बैठक बेनतीजा रही। कैमला में पुलिस की 15 कंपनियां तैनात कर 7 नाके लगाए हैं। बॉर्डर पर कलाकारों ने ‘आर्टिस्ट फॉर फार्मर्स डे’ मनाकर कृषि कानूनों का विरोध किया। किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि अब आंदोलन लंबा चलेगा।

गंगवा बोले- शीशा टूटा, पर कोई चोटिल नहीं हुआ
हिसार में डिप्टी स्पीकर गंगवा कार्यक्रम से वापस लाैट रहे थे। तभी कुछ लाेग विराेध करते हुए काफिले के पास पहुंच गए। पुलिस बल की माैजूदगी में किसी ने पत्थर मारकर गाड़ी का शीशा ताेड़ दिया। गंगवा ने कहा है कि कोई घायल नहीं हुआ है।

आज करनाल में सीएम की किसान महापंचायत
रविवार को सीएम मनोहर लाल करनाल के कैमला गांव में किसान महापंचायत करेंगे। इसको लेकर पुलिस और प्रशासन अलर्ट हैं। करनाल समेत पानीपत में भी प्रशासन ने अफसरों की एरिया अनुसार ड्यूटी लगाई है। वहीं किसान भी प्रशासन और पुलिस को धोखा देकर विरोध करने की पूरी तैयारी में हैं।

15 काे किसान अधिकार दिवस मनाएगी कांग्रेस
आंदोलन के समर्थन में कांग्रेस 15 जनवरी काे किसान अधिकार दिवस मनाएगी। पार्टी नेता सभी राजभवनाें तक मार्च करेंगे। राज्यों के महासचिवों और प्रभारियों की बैठक में यह फैसला किया गया। प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘15 जनवरी काे पार्टी रैली और धरने के बाद राजभवन में काले कानून खत्म करने की मांग का ज्ञापन दे।

ब्रिटेन में सांसद ने लिखा पत्र
ब्रिटेन में लेबर पार्टी के सांसद तनमनजीत सिंह ढेसी ने पीएम बाेरिस जाॅनसन काे चिट्ठी लिख किसानाें के मुद्दे पर पीएम नरेंद्र माेदी से बात करने की मांग की है। पत्र में 100 से ज्यादा सांसदाें के दस्तखत हैं।

सुप्रीम कोर्ट में पैरवी के लिए राजेवाल की अध्यक्षता में बनी कमेटी, प्रशांत भूषण को कमान
आंदोलनरत किसान अब कानूनी लड़ाई भी लड़ेंगे। सुप्रीम कोर्ट में कृषि आंदोलन की पैरवी के लिए एक अलग कमेटी बनाने का एलान किया गया है। प्रदर्शनों की रणनीति अब दूसरे किसान नेता बनाएंगे जबकि भाकियू नेता बलबीर सिंह राजेवाल की अध्यक्षता में कमेटी की ओर से वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण यह जिम्मेदारी निभाएंगे।

एक और याचिका दायर- कहा राेज 3500 कराेड़ रु. का नुकसान
किसानों के आंदोलन के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में नया हलफनामा दाखिल किया गया है। याचिकाकर्ता ऋषभ शर्मा ने मीडिया रिपाेर्टाें के हवाले से कहा है कि दिल्ली बाॅर्डर पर बैठे किसानाें के कारण राेजाना 3500 कराेड़ रुपए का नुकसान हाे रहा है। इसमें किसानाें काे दिल्ली बॉर्डर से हटाने की मांग की गई है। कहा गया है कि रास्ता जाम कर प्रदर्शन करना शाहीन बाग मामले में सुप्रीम कोर्ट के जारी निर्देशाें का उल्लंघन है।

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here