अंधविश्वास के चलते नवजात शिशु को गर्म सरिये से दागा

jaipur/Atulya Loktantra : दुनिया में हर घटने वाली घटना के पीछे कोई वजह होती है चाहे वो छोटी हो या बड़ी। कभी-कभी इंसान अपनो को पहचानने में भी बड़ी गलती कर देता है। जिसकी वजह से बहुत बड़ी परेशान पैदा हो जाती है, लेकिन जब सच्चाई सामने आती है तो लोग चौंक जाते है। आज भी दुनिया के कई ऐसे हिस्से है। जहां पर अंधविश्वास के कारण लोगों की जाने चली जाती है।

आज हम आपको अंधविश्वास का एक ऐसा मामला बताने जा रहे है जिसे सुनकर दिल दहल जाएगा, क्योंकि झापुआ जिले में अंधविश्वास रूकने का नाम नहीं ले रहा है। यहां पर एक पिता अपने 15 दिन के बेटे को खासी जुंकाम की वजह से एक झाड़ फुक करने वाले के पास ले गए और उसने बच्चे के पेट पर गरम सरिया दाग दिया।

इस गांव के लोगों का मानना है कि अगर बच्चो तो खासी जुकाम हो जाता है तो उसको हापलिया बीमारी हो गई है औऱ बच्चे के परिजान उसका इलाज करने के लिए झाड़ फुक करने वाले के पास ले जाते है।

इन्होंने भी ऐसा किया और नवजात शिशु को लेकर बाबा के पास गए और बाबा ने 200 रूपए लेकर बच्चे के सीने पर गरम सरिये से दाग दिया लेकिन बच्चे के ठीक न होने पर उसे अस्पताल ले जाया गया जहां जाकर पता चला कि बच्चे को जलाने के कारण सेप्टीसिमिया हो गया था। हालत गंभीर होने के कारण उसको दूसरे अस्पताल में रेफर कर दिया गया है।

Leave a Comment