पायल घोष के अनुराग कश्यप पर यौन शोषण का आरोप लगाने के पश्चात, महिला आयोग ने मामले में लिया संज्ञान

22

New Delhi/Atulya Loktantra: अभिनेत्री पायल घोष ने अनुराग कश्यप पर यौन शोषण का सनसनीखेज आरोप लगाया है। 19 सितंबर को पायल ने ट्वीट कर पीएम मोदी से न्याय की गुहार लगाई थी। रविवार की सुबह पायल घोष एक बार फिर सामने आईं। न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए पायल ने कहा कि अनुराग कश्यप ने उन्हें असहज महसूस करवाया। पायल कहती हैं कि ‘पहले मैं अपने मैनेजर के साथ उनसे मिली। फिर उसके बाद मैं उनके घर जाकर मिली। उन्होंने मुझसे बहुत अच्छे से मुलाकात की थी। उनका व्यवहार देखकर मुझे बहुत अच्छा लगा था लेकिन जब दूसरे दिन उन्होंने अपने घर बुलाया तो कुछ चीजें ठीक नहीं हुईं मेरे साथ। इसी बारे में मैने बात की।’

पायल आगे कहती हैं कि ‘उन्होंने मुझे असहज महसूस कराया। जो भी हुआ था, मुझे बुरा लगा वैसा होना नहीं चाहिए क्योंकि ना तो मैं उनके साथ काम कर रही थी, ना ही उनसे कोई जान पहचान है और ना ही हम दोस्त थे। हम बस मिले थे। कोई तुम्हारे पास काम के लिए आया है तो इसका मतलब ये नहीं होता कि हर कोई उन सब चीजों के लिए तैयार है। उन्होंने मुझे असहज महसूस कराया।’ पायल के आरोपों के बाद महिला आयोग ने इस मामले का संज्ञान लिया है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि ‘बीती रात मैंने पायल घोष का ट्वीट देखा। उन्होंने अनुराग कश्यप पर 2015 में यौन शोषण करने का आरोप लगाया। उनके जवाब में मैंने कहा कि वो मुझे पहले शिकायत भेजें फिर हम इस मामले को देखेंगे।’

वहीं पायल के इस आरोप पर अनुराग कश्यप ने कई ट्वीट कर जवाब दिया है। उन्होंने लिखा है, ‘क्या बात है, इतना समय ले लिया मुझे चुप करवाने की कोशिश में। चलो कोई नहीं। मुझे चुप कराते-कराते इतना झूठ बोल गए कि औरत होते हुए दूसरी औरतों को भी संग घसीट लिया। थोड़ी तो मर्यादा रखिए मैडम। बस यही कहूंगा कि जो भी आरोप हैं आपके सब बेबुनियाद हैं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here