तोहफा : टैक्‍स स्‍लैब में बदलाव करेगी मोदी सरकार!

0
20

New Delhi/Atulya Loktantra : अगर सब कुछ ठीक रहा तो आने वाले दिनों में मोदी सरकार इनकम टैक्‍स स्‍लैब में बदलाव कर सकती है. अगर ऐसा होता है तो देश के उस मिडिल क्‍लास को बड़ी राहत मिलेगी जो टैक्स का एक बड़ा हिस्सा चुकाता है. आइए जानते हैं कि सरकार टैक्‍स स्‍लैब में क्‍या बदलाव कर सकती है.

न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के सदस्य अखिलेश राजन की अगुवाई में सरकार द्वारा गठित समिति ने लोगों के लिए नए टैक्‍स स्‍लैब की सिफारिश की है. इस सिफारिश के लागू होने की स्थिति में 5 लाख से 10 लाख रुपये सालाना कमाई वाले को 10 फीसदी टैक्‍स देना होगा.

मौजूदा वक्‍त में 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये की कमाई पर 20 फीसदी टैक्‍स देना होता है. इस लिहाज से 10 लाख तक की कमाई करने वालों को बड़ी राहत मिल सकती है.

समिति की सिफारिश में 10 लाख से 20 लाख रुपये तक की सालाना कमाई पर 20 फीसदी टैक्‍स का प्रस्ताव है. इसी तरह समिति ने 20 लाख रुपये से दो करोड़ रुपये तक की आय वालों पर 30 फीसदी दर से टैक्‍स लेने की सिफारिश की है.

जबकि 2 करोड़ रुपये सालाना से अधिक कमाई करने वालों पर 35 फीसदी टैक्‍स लगाने का प्रस्ताव दिया गया है. हालांकि इस पर सरचार्ज नहीं लगाने की सिफारिश की गई है.

बता दें कि वर्तमान में, 2.5 लाख रुपये से पांच लाख रुपये की कमाई पर 5 फीसदी टैक्‍स लगाया जाता है. इसी तरह 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये की कमाई पर 20 फीसदी और 10 लाख रुपये से अधिक की आय पर 30 फीसदी इनकम टैक्‍स लगता है.

जिनकी सालाना कमाई 5 लाख रुपये तक है, उन्हें टैक्‍स रीबेट मिलता है. मतलब यह कि 5 लाख की कमाई वालों का टैक्‍स शून्‍य होता है. हालांकि इससे अधिक की कमाई पर पुराने टैक्‍स स्‍लैब लागू हो जाते हैं.

Previous Most Popular News Storiesफरीदाबाद-पलवल के बीच तेलंगाना एक्सप्रेस की बोगी में लगी भीषण आग
Next Most Popular News Storiesकश्मीर पर शोर के बीच PAK की चाल, आज करेगा ‘गजनवी’ मिसाइल का परीक्षण
इस न्यूज़ पोर्टल अतुल्यलोकतंत्र न्यूज़ .कॉम का आरम्भ 2015 में हुआ था। इसके मुख्य संपादक पत्रकार दीपक शर्मा हैं ,उन्होंने अपने समाचार पत्र अतुल्यलोकतंत्र को भी 2016 फ़रवरी में आरम्भ किया था। भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय से इस नाम को मान्यता जनवरी 2016 में ही मिल गई थी । आज के वक्त की आवाज सोशल मीडिया के महत्व को समझते हुए ही ऑनलाईन न्यूज़ वेब चैनल/पोर्टल को उन्होंने आरंभ किया। दीपक कुमार शर्मा की शैक्षणिक योग्यता B. A,(राजनीति शास्त्र),MBA (मार्किटिंग), एवं वे मानव अधिकार (Human Rights) से भी स्नातकोत्तर हैं। दीपक शर्मा लेखन के क्षेत्र में कई वर्षों से सक्रिय हैं। लेखन के साथ साथ वे समाजसेवा व राजनीति में भी सक्रिय रहे। मौजूदा समय में वे सिर्फ पत्रकारिता व समाजसेवी के तौर पर कार्य कर रहे हैं। अतुल्यलोकतंत्र मीडिया का मुख्य उद्देश्य राष्ट्रीय सरोकारों से परिपूर्ण पत्रकारिता है व उस दिशा में यह मीडिया हाउस कार्य कर रहा है। वैसे भविष्य को लेकर अतुल्यलोकतंत्र की कई योजनाएं हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here