Coronavirus Updates: देश में कोरोना से 24 घंटे में 584 मौतें, देखें दिल्ली-हरियाणा के आंकड़े

0
File Photo

New Delhi/Atulya Loktantra News: देश में कोरोना का कहर जारी है. पिछले 24 घंटे में कोरोना के 45,882 नए मामले सामने आए हैं. जिसके साथ भारत में कुल मामलों की संख्या 90,04,366 हो गई है. वहीं, पिछले 24 घंटे में यहां करोना के कारण 584 मरीजों की जान चली गई है. देश में इस महामारी के कारण अभी तक 1,32,162 लोग मौत के मुंह में समा चुके हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना के 4,43,794 मामले सक्रिय हैं. वहीं, पिछले 24 घंटे में 44,807 मरीजों के ठीक होने के साथ ही कुल ठीक हुए मामलों की संख्या 84,28,410 हो गई है.

दिल्ली में कोरोना को लेकर कोहराम मचा हुआ है लेकिन नए मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. 24 घंटे में साढ़े सात हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. दिल्ली सरकार के लिए अस्पताल में बेड की संख्या बढ़ाना बड़ी चुनौती है. गृह मंत्रालय ने 10 टीमों का गठन किया है जो 100 अस्पतालों का दौरा कर अपनी रिपोर्ट देगी.

AdERP School Management Software

दिल्ली में कोरोना पर काबू पाने की हर कोशिश नाकाम होती दिख रही है. हर नए दिन के साथ साथ कोरोना के आंकड़े खौफ पैदा कर रहे हैं. पिछले 24 घंटे में कोरोना से 98 लोगों की जान चली गई. एक दिन में दिल्ली साढ़े सात हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं. इस वक्त दिल्ली में 43,000 से ज्यादा कोरोना के एक्टिव केस हैं.

कोरोना मामलों की बढ़ती संख्या को लेकर अस्पताल में इंतजाम दुरुस्त करने की तैयारी चल रही है. दिल्ली सरकार ने फैसला किया है कि दिल्ली में मास्क नहीं पहना तो अब 2000 रुपए का जुर्माना भरना होगा. पहले ये जुर्माना 500 रुपए का था.

प्राइवेट अस्पतालों के आईसीयू में 80 फीसदी बेड कोरोना मरीजों के लिए रिजर्व होंगे. ये आदेश पहले से जारी था लेकिन अब इसे सख्ती से लागू किया जाएगा. प्राइवेट अस्पतालों के नॉन-आईसीयू बेड 60 फीसदी तक रिजर्व होंगे. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का दावा है कि इससे इससे प्राइवेट अस्पतालों में 2644 बेड कोरोना के इलाज के लिए बढ़ जाएंगे.

गृह मंत्रालय की तरफ से कोरोना की इस बेकाबू रफ्तार से निपटने के लिए बड़ी तैयारी की जा रही है. दिल्ली के छतरपुर में कोविड केयर सेंटर के 500 आइसोलेशन बेड के साथ ऑक्सीजन की सुविधा दी जाएगी. छतरपुर और शकूर बस्ती के कोविड सेंटर में अतिरिक्त सुरक्षा बल से आए 50 डॉक्टरों की नियुक्ति की जाएगी. शकूर बस्ती रेलवे स्टेशन पर रेल कोच में बने 800 बेड अब तैयार हो रहे हैं.

गृह मंत्रालय की तरफ से गठित 10 टीमें दिल्ली के 100 प्राइवेट अस्पतालों का दौरा करेगी और अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी. गृहमंत्रालय ने हरियाणा और यूपी सरकार को भी निर्देश दिए हैं कि एनसीआर के प्राइवेट अस्पतालों का इसी तरह सर्वे कराए. इस बीच दिल्ली-नोएडा बॉर्डर पर कोरोना का रैंडम टेस्ट करने की शुरुआत हो चुकी है. अभियान के दूसरे दिन 178 लोगों की जांच की गई, जिसमें 9 लोग पॉजिटिव पाए गए.

हरियाणा में स्कूल खुलते ही कोरोना ने कोहराम मचा दिया है. महज दो हफ्तों में ही हरियाणा में कुल 147 छात्र करोना संक्रमित हो गए हैं. रेवाड़ी में सबसे ज्यादा 72 छात्र संक्रमित हैं. इसके अलावा जींद में 29, सिरसा में 16, कैथल और महेंद्रगढ़ में 12-12 और हिसार में 6 बच्चे पाजिटिव हैं. कई स्कूलों में छात्रों के साथ शिक्षक भी संक्रमित हैं. सभी स्कूलों में कोरोना टेस्टिंग के आदेश दे दिए गए हैं. जिन स्कूलों में पॉजिटिव केस मिले है उनको 14 दिन के लिए बंद कर दिया गया है. हरियाणा में अभी तक कोरोना की चपेट में 2,09,251 लोग आ चुके हैं. वहीं 1,87,559 लोग ठीक हो चुके हैं. इसके अलावा हरियाणा में कोरोना से मरने वालों की संख्या 2113 पहुंच गई है.

इधर, दिल्ली हाईकोर्ट ने कोरोना से निपटने के तौर तरीकों को लेकर केजरीवाल सरकार को कड़ी फटकार लगाई है. कोर्ट ने कहा है कि सरकार तब कदम उठा रही है जब हालात काबू से बाहर हो गए हैं. कोर्ट ने ये भी कहा कि स्थिति भयानक है और रात में भी शवों को जलाया जा रहा है. कोर्ट ने दिल्ली सरकार को निजी अस्पतालों के ICU बेड की जानकारी सरकारी वेबसाइट पर देने का निर्देश दिया है. साथ ही दिल्ली सरकार को नई स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा है.

अहमदाबाद में कोरोना संक्रमण के फिर से रफ्तार पकड़ने पर प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है. आज से रात 9 बजे से लेकर सुबह 6 बजे कर्फ्यू लागू कर दिया गया है. नाइट कर्फ्यू के दौरान सिर्फ आवश्यक चीजों की दुकानें ही खुली रहेंगी. इसके अलावा रूपाणी सरकार ने अहमदाबाद के लिए 300 डॉक्टर, 300 मेडिकल छात्र और 20 अतिरिक्त एंबुलेंस तैनात कर दिए हैं.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भरोसा जताया है कि अगले 3-4 महीनों में भारत की कोरोना वैक्सीन आ सकती है. हर्षवर्धन के मुताबिक केंद्र सरकार अभी से कोरोना टीकाकरण की तैयारियों में जुट गई है और राज्यों से आंकड़े लेने का काम भी शुरू हो गया है. पहले चरण में स्वास्थकर्मियों और 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन दिए जाने की योजना है.

अपनी सलाह दे (देश की आवाज)

Please enter your comment!
Please enter your name here