निर्माण में गड़बड़ी:सीएम अनाउंसमेंट के तहत 61 लाख रुपए में बनी थी सड़क, दो साल में ही टूट गई

सरकार के तमाम निर्देश के बाद भी काम करने वाले ठेकेदार विकास कार्यों में गुणवत्ता का ध्यान नहीं दे रहे।