मैनुअल स्कैवेंजिंग को खत्म करने में केंद्र सरकार विफल

Manual Scavenging: भारत के दोनों ही सदनों में अभी मानसून सत्र (Monsoon Session) चल रहा है। केंद्र सरकार (Central Government) द्वारा सवालों के जवाबों में सच्चाई देखने को नहीं मिल पा … अधिक पढ़ें

ऑफिस में 30 मिनट भी ज्यादा काम करने पर कंपनी को देना होगा एक्स्ट्रा पैसा, मोदी सरकार ला रही ये नया नियम

New Delhi: नए ड्राफ्ट कानून (New Draft Law) में कामकाज के अधिकतम घंटों को बढ़ाकर 12 करने का प्रस्ताव पेश किया गया है। ओएसच कोड के ड्राफ्ट नियमों में 15 से … अधिक पढ़ें

कल से पड़ेगा आपकी जेब पर असर, इन 5 नियम में होगा बदलाव

1 अगस्त 2021 से भारत में रुपये- पैसे से जुड़े पांच बड़े बदलाव होने जा रहे हैं। इन नियमों में बदलाव से आपकी जेब प्रभावित होगी । इन बदलावों में … अधिक पढ़ें

ये क्या बोल गए बीजेपी के मंत्री, कहा- मुर्गी, मछली से ज्यादा खाएं बीफ

Sanbor Shullai Controversial Statement: एक ओर जहां भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कई नेता व मंत्री गोहत्या को रोकने के पक्ष में बात करते हैं तो वहीं दूसरी ओर पार्टी के … अधिक पढ़ें

भारत करेगा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अगुआई, इन मुद्दों पर फोकस

भारत 1 अगस्त को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालेगा वह तीन प्रमुख क्षेत्रों समुद्री सुरक्षा, शांतिरक्षण और आतंकवाद को रोकने के संबंधी विशेष कार्यक्रमों की मेजबानी करने के … अधिक पढ़ें

अगले हफ्ते राज्यसभा स्पीकर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव ला सकता है विपक्ष- सूत्र

Monsoon Session: संसद का मानसून सत्र शुरू हुए दो हफ्ते बीत चुके हैं, लेकिन पेगासस मुद्दे पर विपक्ष के हंगामे के चलते संसद ठीक तरह से काम नहीं कर पाई है। … अधिक पढ़ें

भाजपा में कार्यकर्ता ही सबसे बड़ा पद, सेवा ही संगठन: राजेश नागर

फरीदाबाद। भाजपा में कार्यकर्ता ही सबसे बड़ा पद है। भाजपा का आम कार्यकर्ता भी राष्ट्रीय अध्यक्ष, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति तक बन सकता है। यह बात तिगांव से विधायक राजेश नागर ने खेड़ी मंडल की कार्यकारिणी बैठक में कही। श्री नागर ने कहा कि आज भाजपा दुनिया का सबसे बड़ा राजनैतिक दल है। इसके पीछे पार्टी की नीतियों को जन जन तक पहुंचाने वाले कार्यकर्ता और कुशल नेतृत्व है। यह भाजपा ही है जिसमें एक आम कार्यकर्ता भी शीर्ष तक पहुंच सकता है। यहां एक चायवाला भी प्रधानमंत्री बन सकता है। लेकिन दूसरों दलों में यह संभव नहीं है। वहां तो परिवार के लोग ही आगे बढ़ते हैं। विधायक राजेश नागर ने सभी से कहा कि भाजपा के नेतृत्व ने हमेशा देश को पहले रखा और उसी के हिसाब से नीतियां बनाईं। भाजपा के कार्यकर्ता ने हमेशा देश की सेवा को पहला लक्ष्य बनाया और सेवा की। यही कारण है कि आज भाजपा सेवा ही संगठन प्रकल्प पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि यह ठीक है कि जब कार्यकर्ता की उपेक्षा की जाती है तो उसको ठेस पहुंचती है लेकिन मेरे दरवाजे हमेशा आपके लिए खुले हैं। मैं आपके लिए हमेशा उपलब्ध हूं। हम सब मिलकर पीएम नरेंद्र मोदी जी और सीएम मनोहर लाल जी की नीतियों को जन जन तक पहुंचाने के लिए काम कर रहे हैं। हम भारत को पुन: उसका स्थान दिलाने के लिए प्रयासरत हैं। इस अवसर पर मंडल प्रभारी पुनीता झा, मंडल अध्यक्ष ज्ञानेंद्र नागर, अमरपाल नागर, डा आरएस नागर, राजवीर सरपंच, महामंत्री दयाराम नागर, नरवीर नर्वत, विनोद पंडित, ईश्वर भाटी, वीरपाल पहलवान, दिनेश भाटी, विनोद नागर, रूपी सरपंच, दयानंद सरपंच, सुनील पाराशर, धर्मवीर बैंसला, शरदाराम, महेश नागर, जगत नेताजी, करतार चंदीला, बंटू नर्वत, नीरा नागर, मनोहर सिंह नागर, केएलजे पे्रसीडेंट डीके सिंह आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

19 वर्षीय किशोर को पड़ा दिल का दौरा, एसएसबी अस्पताल ने बचाई जान

फरीदाबाद। आज के आधुनिक युग में गलत खान-पान व आदतों के चलते छोटी उम्र के युवा भी हार्ट अटैक जैसी जानलेवा बीमारियों की चपेट में आ रहे है। एसएसबी अस्पताल में हार्ट अटैक से पीडि़त होकर गंभीर अवस्था में आए 19 वर्षीय युवक की डाक्टरों ने इमरजेंसी एंजियोप्लास्टी कर नया जीवन देने का काम किया है। अस्पताल के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ एवं निदेशक डा. एस.एस. बंसल ने बताया कि जिस समय युवक को अस्पताल लाया गया, उसके सीने व जबड़े में दर्द था और दर्द बाएं कंधे तक भी जा रहा था, उसे उल्टी और पसीना भी आ रहा था। जांच करने पर पता चला कि उसे हार्ट अटैक उसके हृदय की महत्वपूर्ण धमनी में रूकावट के कारण हुआ था और उनके हृदय की पम्प की क्षमता भी घटकर 40 प्रतिशत रह गई थी। प्रारंभिक जाचं के बाद उनकी एंजियोग्राफी की गई, जिसमें पाया गया कि हृदय की धमनी एलएडी में बड़े-बड़े रक्त के थक्के जमा होकर क्रिटिकल ब्लॉक बन गए थे। एक स्पेशल कैथेटर की मदद से उन रक्त के थक्कों को निकालकर इमरजेंसी एंजियोप्लास्टी व स्टेंटिग की गई, जिसके बाद अब रोगी स्वस्थ है। डा. बंसल ने बताया कि इस मरीज में हृदय रोग का कारण धूम्रपान व पारिवारिक हृदय रोग का होना पाया गया। इसमें हामोसिस्टीन के लेवल बहुत हाई पाये गए। इसमें की एचएससीआरपीआर मात्रा भी 32 पाई गई, जो कि 3 से कम होनी चाहिए। इस मामले में पाया गया कि मरीज का हा हामोसिस्टीन स्तर 50 माइक्रोमोल/लीटर से अधिक था, जो कि काफी उच्च स्तर पर है, इसकी नार्मल सीमा 16 माइक्रोमोल/लीटर से कम होती है। डा. बंसल के अनुसार शरीर में होमेासिस्टीन सामान्य रूप से शरीर द्वारा उपयोग के लिए अन्य अमीनो एसिड में टूटकर बदल जाता है। इसके टूटने के लिए विटामिन बी और फोलिक एसिड की आवश्यकता होती है, यदि होमोसिस्टीन का स्तर बहुत अधिक है तो यह रक्त थक्का बनने का कारण बन सकता है, इन रोगियों को विट बी 12 और फोलिड एसिड की उच्च खुराक दी जाती है। उन्होंने बताया कि इस मामले में दिलचस्प तथ्य यह है कि मरीज के पिता भी हाइपरहोमोसिस्टीनमिया के मरीज थे और वह हृदय रोग और एथेरोस्क्लेरोसिस से भी पीडि़त थे। हालांकि उनके पिता को उनसे बड़ी उम्र में दिल का दौरा पड़ा था। डा. एस.एस. बंसल ने लोगों को सलाह दी कि यदि हाइपरहोमोसिस्टीनेमिया और हृदय रोग का पारिवारिक इतिहास है, तो भाई-बहनों को अन्य पांरपरिक रिश्तेदारों को भी स्थापित करने के लिए अपने सीरम होमेसिस्टीन स्तर की भी जांच करवानी चाहिए ताकि हृदय रोग के जोखिम को कम करने के लिए कुछ निवारक उपाय किए जा सके ताकि इतनी कम उम्र में हार्ट अटैक को रोका जा सके।

पुलिस लाइन सेक्टर 30 में कोविड वैक्सीनेशन कैंप लगा कर 439 पुलिसकर्मियों एवं उनके परिजनो का टीकाकरण कर सुरक्षा कवच दिया गया: पुलिस उपायुक्त डॉ अंशु सिंगला

फरीदाबादः कोविड महामारी की तीसरी लहर के संभावनाओं की चर्चा के बीच पुलिस आयुक्त श्री ओपी सिंह के दिशा निर्देश तथा पुलिस उपायुक्त डॉ अंशु सिंगला के मार्गदर्शन में पुलिसकर्मियों … अधिक पढ़ें

अवैध हथियार सहित एक आरोपी काबू, एक देसी कट्टा दो जिंदा कारतूस और तीन खाली खोल बरामद

फरीदाबाद:- क्राइम ब्रांच सेक्टर 85 की टीम ने नाजायज असला सहित एक आरोपी को काबू करने में सफलता हासिल की है। आरोपी की पहचान विक्रम निवासी बुलंदशहर उत्तर प्रदेश हाल … अधिक पढ़ें